Monday, January 17, 2011

बहुत अच्छा है



यदि आप परीक्षा देते हैं तो
दो बातें होंगी:
या आप पास होंगे या फेल!
अगर आप पास होते है तो अच्छा है|
यदि फेल होते हैं तो फिर
दो बातें होंगी:
या तो आप दुबारा कोशिश  करेंगे या बीमार पड़ जाएँगे
यदि आप दुबारा कोशिश  करते हैं तो अच्छा है|
यदि आप बीमार पड़ जाते हैं तो फिर
दो बातें होंगी:
या तो आप ठीक हो जाएँगे या मर जाएँगे;

ठीक हो गए तो अच्छा है|
अगर मर गए तो फिर दो बातें हो जाएंगी:
या तो आपको स्वर्ग मिलेगा या नर्क;
स्वर्ग मिला तो अच्छा है |
यदि आप नर्क में जाते हैं तो बहुत अच्छा है;
वहां आप को काफी दोस्त  मिलेंगे!
और आप दुबारा उनके साथ मस्ती कर सकते हैं|

26 comments:

  1. किसकी बात करें-आपकी प्रस्‍तुति की या आपकी रचनाओं की। सब ही तो आनन्‍ददायक हैं।

    ReplyDelete
  2. आपने कई दो रास्तों के बीच से जो एक ही रास्ता बताया है वह इतना आकर्षक है कि सभी उससे जाना चाहेंगे :))

    ReplyDelete
  3. मै अब कौन सा रास्ता सही है.... दुविधा में आ गया. वैसे दूसरा वाला भी अब बुरा नहीं लग रहा है.

    ReplyDelete
  4. क्या नरक में फेसबुक और ब्लॉग लिख्मे की सुबिधा है //
    हा हा हा

    ReplyDelete
  5. यदि आप नर्क में जाते हैं तो बहुत अच्छा है;
    वहां आप को काफी दोस्त मिलेंगे!
    और आप दुबारा उनके साथ मस्ती कर सकते हैं|
    samajh gaya ji........ha....ha......ha....

    ReplyDelete
  6. प्रबल आशावाद. आधा पानी और आधी आशा के साथ पूरा भरा गिलास.

    ReplyDelete
  7. aapne to saari problem hi solve kar di...thanks..

    ReplyDelete
  8. बहुत अच्छा ....

    ReplyDelete
  9. ham aate rahenge yahaan.....nahin to do baate hongi......yaa to......ya......!!!

    ReplyDelete
  10. दो बातों के चक्कर में ही नरक में पहुंचता है बन्दा.एक ही बात रखे तो बच जाए.

    ReplyDelete
  11. अच्छा है ...
    बहुत अच्छा !!

    ReplyDelete
  12. वाह..बहुत ही रोचक!!

    ReplyDelete
  13. वाह सच्ची बात....लोग बेकार ही स्वर्ग जाने के चक्कर में ज़िन्दगी हराम कर लेते हैं...और उसका भरपूर मज़ा नहीं लेते...

    नीरज

    ReplyDelete
  14. क्या सुझाव है,बहुत बढ़िया ।

    ReplyDelete
  15. दोस्त ....!!

    आपके बतायी दो

    बातों में तो

    मुझे दूसरी वाली बात ही

    ज्यादा पसंद आयी......

    कम से कम

    अंत में दोस्तों के साथ...

    मस्ती तो कर सकते हैं...



    तो फिर दोस्त....!!

    नरक में मिलते हैं...!!!

    ReplyDelete
  16. एक ऐसी यात्रा से गुजरा हूँ जिसे मेरे दिल ने महसूसा है

    शब्द नहीं कि उसे उकेर सकूँ

    या बाँध सकूँ

    शब्दों के जल में

    बस

    एक शब्द है

    दिव्य

    ReplyDelete
  17. यदि आप नर्क में जाते हैं तो बहुत अच्छा है;
    वहां आप को काफी दोस्त मिलेंगे!
    और आप दुबारा उनके साथ मस्ती कर सकते हैं|
    Wah kya baat kahi hai par jab sare dost jahan mil jayen vo jagah nark kahan rahegi swarg ban jayegi theek kaha na......Nice post.. Keep it up..

    ReplyDelete
  18. बढ़िया अंदाज़ ..नर्क ही अच्छा है ..फिर इस दुनिया में क्या बुराई है ?

    ReplyDelete