Wednesday, September 28, 2011

आसक्ति के सामान कोई बिष नहीं

                              नास्त्यकिर्तीसमो मृत्युर्नास्ति क्रोधसमो रिपु:|
                         
                         नास्ति निन्दासमं पापं नास्ति  मोहसमासव: ||
                         
                         नास्त्यसुयासमाकिर्तिर्नास्ती कामसमोSनल: |
                         
                         नास्ति रागसम: पशो नास्ति संगसमं विषम  ||


               अकीर्ति के सामान कोई मृत्यु नहीं है| क्रोध के सामान कोई शत्रु नहीं है| निन्दाके सामान कोई पाप नहीं है और मोह के सामान कोई मादक वस्तु नहीं है|  असूया के सामान कोई अपकीर्ति नहीं, काम के सामान कोई आग नहीं है, राग के सामान कोई बंधन नहीं है और आसक्ति के सामान कोई बिष नहीं है|

30 comments:

  1. सुंदर तरीके से जीवन का रूप दिखा दिया गया है. आभार आपका. MEGHnet

    ReplyDelete
  2. विचारणीय बहुत प्रेरक .....आपका आभार

    ReplyDelete
  3. सर्वांग सत्य सूत्र!! मननीय!!

    ReplyDelete
  4. प्रेरक विचार. अच्छी प्रस्तुति .शारदीय नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनाएं .

    ReplyDelete
  5. आपको एवं आपके परिवार को नवरात्रि पर्व की हार्दिक बधाइयाँ एवं शुभकामनायें !

    ReplyDelete
  6. प्रेरक विचार.
    नवरात्रि की हार्दिक शुभकामनायें.

    ReplyDelete
  7. सत्य वचन

    प्रस्तुति के लिए आभार

    ReplyDelete
  8. प्रेरक विचार... अच्छी प्रस्तुति ...

    ReplyDelete
  9. ....और आपके समान कोई इतनी गंभीर व ज्ञानवर्धक सूत्र बताने वाला भी तो नहीं है.
    बहुत बहुत आभार!

    ReplyDelete
  10. अकीर्ति तो आज के नेताओं का एलिक्सिर है... उन्हें इसी से तो ऊर्जा मिलती है :(

    ReplyDelete
  11. अनुकरणीय अनमोल हीरे भरें हैं इस पोस्ट में .

    ReplyDelete
  12. प्रेरक व अनुकरणीय।

    ReplyDelete
  13. मंत्र मुग्ध करने वाला मंत्र।

    ReplyDelete
  14. बिलकुल सच्ची बात है जी ....

    ReplyDelete
  15. जिंदगी में अपनाने और याद रखने योग्य अनमोल बातें.....

    ReplyDelete
  16. मोह के सामान कोई मादक वस्तु नहीं है|
    bilkul shi bat.

    ReplyDelete
  17. बहुत सच कहा है..

    ReplyDelete
  18. आपको रामनवमी की शुभकामनायें.

    ReplyDelete
  19. आप्त वचन -आभार

    ReplyDelete
  20. सार्थक चिंतन ... जय माता दी ...

    ReplyDelete
  21. सुंदर विचार.

    विजयादशमी की आपको व आपके परिवार को बहुत ढेर सारी शुभकामनाएँ.

    ReplyDelete
  22. आप सब को विजयदशमी पर्व शुभ एवं मंगलमय हो।

    ReplyDelete
  23. आप सब को विजयादशमी की हार्दिक शुभकामनाएं !

    ReplyDelete
  24. It is so wonderful...love it !!Surjit

    ReplyDelete